Sushant Singh Rajput Shayari, Sushant Singh Rajput Shayari in HIndi || सुशांत सिंह राजपूत शायरी, सुशांत सिंह राजपूत शायरी हिन्दी में

  

Sushant Singh Rajput Shayari, Sushant Singh Rajput Shayari in HIndi || सुशांत सिंह राजपूत शायरी, सुशांत सिंह राजपूत शायरी हिन्दी में

S. S. Rajput (Born : January 21, 1986, Patna, Bihar, India - Died : June 14, 2020, Mumbai, Maharashtra, India - Age : 34 Year)


नमस्कार दोस्तों, यहां आपको सुशांत सिंह राजपूत की शायरी मिलेगी जो आपके दिल को छू सकती है, सुशांत सिंह राजपूत शायरी हिन्दी में, सुशांत सिंह राजपूत शायरी । तो कृपया इसे पढ़ें और इसे अपने मित्र और प्रेमी को साझा करें।



Sushant Singh Rajput




काल भी एक ऐसा किरदार अदा कर गया,
अनेक किरदारों को नई दिशा में जिसने था दिखाया।






गिराकर पर्दा उसकी ज़िन्दगी के मंच पर,
आज और एक हसीन हस्ती को अपने साथ वो ले गया।






मैं जब दुनिया में था,
तो हाल तक मेरा नहीं पूछा।






मैं जब चलने लगा,
तो सारी दुनिया पूछने आयी।






आज फिर एक जिंदगी एक संदेश दे गई,
में परिस्थिति की ताक़त से नहीं,
मन की ताकत से जिंदा हूँ।






कोई आपको बुरा कहे तो केहने दो,
क्योंकि आदमी अच्छा था ये सुनने के लिए मरना पड़ता हैं !






जिंदगी में चाहे सब कुछ हार जाओ,
पर जितने की उम्मीद हमेशा जिंदा रखो।






Sushant Singh Rajput Shayari in Hindi






एक तन्हा सितारा तन्हाई में खो गया,
चाँद से प्यारा आसमाँ में जा के सो गया।






मरना किसी का शौक नहीं होता,
बस कुछ तकलीफें ऐसी होती है,
जिसे जिंदगी से ज्यादा मौत प्यारी लगती है !!!






लम्हे फुर्सत के आएं तो,
रंजिशें भुला देना दोस्तों किसी को नही खबर,
कि सांसों की मोहलत कहाँ तक है।






अन्दर ही अन्दर शान्त हो रहा हूँ,
लगता है ! मैं भी धीरे धीरे सुशांत हो रहा हूँ






" बड़ी महफ़िल का सितारा दो गज़ रस्सी से हार गया ,
ज़िन्दगी की उलझन या इश्क़ का दर्द उसे सरे आम मार गया ..! "






खोकर पता चलती है,
कीमत किसी के पास अगर हो तो अहसास कहाँ होता है !!






ज़िन्दगी के सफ़र को भले ही आधा छोड़ चुके हो,
पर लोगो के दिलो में तुम अब भी ज़िंदा हो






Sushant Singh Rajput Sad Shayari






" हराम की कमाई से रिया तो बन सकते हो,
परंतु सुशान्त सिंह राजपूत नही। ''






कोई आपको बुरा कहे तो केहने दो,
क्योंकि आदमी अच्छा था ये सुनने के लिए मरना पड़ता हैं !






जिस इंसान को हद से ज्यादा दर्द मिलता है,
वह रोता नहीं सीधा ख़ामोश हो जाता है






मरने के लिए कितनी भी वजह मिल जाए,
जीने के लिए एक वजह काफी होती है ..!






तुम निचे गिरके देखो कोई नहीं आएगा उठाने,
तुम जरा उड़कर तो देखो सब आएंगे गिराने !






अब परछाईयों का भी बोझ नहीं,
मुझ पर इतना तो सुकून है अंधेरों में






एक चेहरा जो बहुत अंजना था,
फिर उभर कर सामने वो अपनी तेज़ लाया था






अनगिनत कोशिशों से अपने नाम को उसने जगमगा था,
राहों में मुश्किल छोटे थे या बड़े,
अपनी मेहनत से चमका था






रातों रात नही धीरे - धीरे वो,
सब के दिलों में बस गया था






Best shayari in Sushant Singh Rajput






हंसता हुआ चेहरा ना जाने कितने ग़मो को खुद में छिपा रखा था,
कौन जानता था चमकता सितारा आज आसमान में जा चमकेगा।






“ वादे तो हजारों किये थे उसने मुझसे,
काश एक वादा ही उसने निभाया होता






मौत का किसको पता कि कब आएगी,
पर काश उसने ज़िन्दा जलाया न होता । "






बैठे हैं तेरे इंतजार में,
छत के एक कोने में !






सुना है चांद छत से,
बेहतर नजर आता है !!






आज आईना भी सवाल कर बैठा,
किसके लिए तू अपना ये हाल कर बैठा






हुआ है तुझ से बिछड़ने के बाद ये मालूम कि तू नहीं था,
तिरे साथ एक दुनिया थी






Sushant Singh Rajput in Life






कोई यूँ ही तो नही दुनिया छोड़ देता है,
कोई तो कसक जो उन्हें तोड़ देता है आते हैं






सभी एक मुक्कमल उम्र बिताने,
फिर इतनी जल्दी क्यों मुह मोड़ लेता हैं






वो कहती है बहुत ही ढीट और बहुत ही ज़ाहिल हूँ,
मैं उसकी अधूरी कहानी में अपना किस्सा लेकर शामिल हूँ मैं






चेहरे पे हसीं और पीछे मन के,
बहुत गहरा समंदर है ...!!






किसको पता क्या चल रहा,
इंसान के मन के अंदर है ...!!






सुशांत ने जो किया इसमें उसका ज़रा भी ये मैसेज नहीं था कि,
दिक्कतें आए तो इससे छुटकारा के लिए ऐसा शॉर्टकॉर्ट मारो !






उसका मैसेज बस यह था कि दिक्कतें आती हैं, दिक्कतें आएँगी,
लेकिन ये तरीका कभी भी दिक्कतों का हल नहीं हो सकता।






Sushant Singh Rajput Shayari






सुशांत को चाहते थे ना, चाहते हो ना, तो बस उसके इस मौत को बलिदान समझो,
ख़ुद के लिए, ख़ुद के ज़िन्दगी के लिए ..






तेरी यादें, तेरा चेरा,
तेरी ये खबर रुलाएगी।






इस दौर में गुज़रे हर सितारे की,
यादें हमें सताएंगी।






इतनी जल्दी चल तो पड़े तुम,
बहुत से फासले अभी बाकी थे।






एमएस धोनी की मेहनत से लेकर,
छिछोरे के किस्से अभी बाकी थे।






टूट गया आज एक और सितारा,
अब कोई दुआ नहीं मांगेंगे।






मुसीबत में भी हँसना सीखा है तुमसे,
इस आदत को भी अपना हम बनाएंगे।






याद आती हैं तुमसे जुड़ी,
सभी वो कहानियां ... तुम थे और तुम ही रहोगे,
चाहे कितनी ही हो दूरियां।





Sushant Singh Rajput Shayari in Hindi






होश है तुझे भी और होश है,
मुझे भी ये नासमझी फिर यूंही बरकरार रहने दो।






मजबूर ना करो दिल को इतना टूट जाऊं,
खुदा के लिए ये झूठा सा प्यार रहने दो।






एक बिहारी जिसने कभी हिम्मत ना हारी,
जिसकी मुस्कान की दीवानी हो गई






ये दुनिया सारी,
छोटा था शुरूआती दौर






फिर बड़े पर्दे पर नाम कमाया,
काई - पो - छे से केदारनाथ घुमाया






धोनी की अनकही कहानी से लेकर,
सोन चिरैया भी दिखाया






छिछोरे थी सबसे अलग,
जिसने जिना सबको सिखाया






Best Shayari Sushant Singh Rajput






दिल है कितना बेचारा,
ये दिल बेचारा ने बताया






था साधारण सा ये लड़का,
जिसने सपनों को यू पिरोया






चाँद - तारों से था प्रेम इतना की,
चाँद का टुकड़ा अपने नाम किया






इनका क्या पहचान कराना,
ये ना थे किसी से अनजान






नाम है सुशांत सिंह राजपूत,
जिसने हासिल किया हर मुकाम






ना दौलत की कमी थी,
ना शोहरत की कमी थी ...






तुम कह ना सके अपने दर्द को किसी से ...
शायद अपनों में अपनों की कमी थी ...






Sushant Singh Rajput Shayari






बड़ी मोहब्बत मिल रही है जनाब,
किसी को यहां मरने के बाद में जब वो जिन्दा था






इस दुनिया में,
ज़िक्र न था किसी के अल्फ़ाज़ में






होश है तुझे भी और होश है मुझे भी,
ये नासमझी फिर यूंही बरकरार रहने दो।






मजबूर ना करो दिल को इतना टूट जाऊं,
खुदा के लिए ये झूठा सा प्यार रहने दो ।






क्यों अकेलेपन को अपना रहे थे ....
अपनों से दूर जा रहे थे ....






कुछ तो कहां होता वक्त से पहले ....
मौत को गले लगा रहे थे।

Post a Comment

Previous Post Next Post